Wednesday, 2 January 2019

आधुनिकीकरण क्या है ? (Adhunikikaran Kya Hai)

आधुनिकीकरण क्या है ? (Adhunikikaran Kya Hai)


आज के समय में आधुनिकीकरण एक अति लोकप्रिय संकल्पना है। दराचल ये 'आधुनिकीकरण' शब्द ही दो भिन्न शब्दों के मेल से बना हुआ है। यहाँ एक शब्द है 'आधुनिक' और दूसरा है 'करण'. अर्थात इसका अर्थ है जब किसी आधुनिक सोच के ऊपर प्रतिष्ठित किसी व्यबस्था को अन्य किसी मानब समाज में पूरी तरह से फैला दिआ जाता है तभी उसको आधुनिकीकरण बोला जाता है। 

दोस्तों क्या आप जानते है की आधुनिक सोच को एक अर्थ में अधुनिकताबाद कहा जाता है ? दराचल यही अधुनिकताबाद आधुनिकीकरण के लिए भी जिम्मेदार है। क्योकि बिना किसी सोच के ऊपर प्रतिष्ठित हुए बिना कोई भी सामाजिक पद्धिति का बिकाश नहीं हो सकता है, आधुनिकीकरण भी इस चरित्र से मुक्त नहीं है।

दोस्तों, इस लेख में हम इसके कुछ अति महत्वपूर्ण प्रभावों के बारे में जानेंगे, आशा करता हूँ की आपके लिए ये काफी सहायक होगा। 
आधुनिकीकरण क्या है, Adhunikikaran Kya Hai

Related Articles: -

मानब समाज के ऊपर आधुनिकीकरण का प्रभाव (Manab Samaj Ke Upor Adhunikikaran Ka Prabhaw)

1. यौक्तिक सोच का प्रचार: - जैसा की हमने आपको ऊपर बताया की आधुनिकीकरण हमेशा ही आधुनिक सोच के ऊपर प्रतिष्ठित होता है। और ये जो सोच है वो पूर्ण रूप यौक्तिकता के ऊपर प्रतिष्ठित होता है।  

आधुनिकीकरण के वजह से मानब समाज में आज यौक्तिक वैज्ञानिक सोच का बहुत ही ज्यादा  प्रचार हो रहा है। समाज से अंधबिस्वास, कु-संस्कार इत्यादि को दूर करने के लिए आज ये काफी हद तक शक्षम भी हो रहे है। 

2. आधुनिक शिक्षा में प्रगति: - आज दुनिआ के लगभग हर एक मानब समाज में आधुनिक शिक्षा अति द्रुत गति से आगे बढ़ रहा है। चाहे वो कारिकारी दिशा में हो या फिर -करिकारी। 

भारत जैसे देशो में भी आज लोग काफी हद तक पुराने ज़माने के दुर्बल शिक्षा प्रणाली को त्याग कर सुके है। जिसके कारण आज उद्द्योग, विज्ञान इत्यादि के दिशा में ये देश बहुत ही ज्यादा आगे बढ़ रहा है।   

3. द्रुत सामाजिक परिवर्तन: - द्रुत सामाजिक परिवर्तन आधुनिकीकरण का एक और अन्यतम चरित्र है। ये हमेशा ही समाज में हो रहे समस्याओ का समाधान ढूंढ़ने को प्रयास करता है। इसके कारण प्रत्येक व्यक्ति को स्वतंत्रता का अधिकार भी प्रदान किआ जाता है। 

व्यक्ति ऐसे समाज में हर रोज नए नए अबिष्कार करता है ताकि समाज में चल रहे समस्याओ का समाधान हो सके। 'समस्या समाधान की उपाय ढूंढ़ने' के चरित्र के दुवारा आधुनिकीकरण अति तेजी से मानब समाज में परिवर्तन ला रहा है 

4. पुरुष और नारी का समान अधिकार: - एक समय ऐसा था की समाज में महिलाओ को वो सारे अधिकार प्राप्त नहीं होते थे जो पुरुषो को भोग करने मिलता था। महिलाओ को उस समय में पुरुषो की तुलना में निम्न माना जाता था। स्कूल जाना, नौकरी करना उन सबमें उनके के लिए काफी सारे बाधा थी। 

लकिन बिस्व के समाज ने जबसे अपना कदम आधुनिकीकरण की ओर बढ़ाया है तबसे ये परिस्थिति काफी हद तक बदल सुकि है। आज दुनिआ की ज्यादातर समाजो में नारी और पुरुष दोनों को साम्य अधिकार प्राप्त होता और वो सारे काम महिलाये भी कर सकती है जो पुरुष करते है।

भारतीय समाज को ही ले लो एक समय में भारत में महिलाओ को किसी भी समाजिक कार्य में अंश लेने नहीं दिआ जाता था, ना स्कूल जाने और ना ही नौकरी करने; लकिन आज भारत की महिलाये वो सब काम करने में शक्षम है। ये भी आधुनिकीकरण का ही एक अन्यतम तात्पर्यपूर्ण प्रभाव है।